April 29, 2024

RajPrisons

All Subject Notes Hindi Mein

आस पास वर्किंग वीमेन हॉस्टल

आस पास वर्किंग वीमेन हॉस्टल

आस पास वर्किंग वीमेन हॉस्टल । Aas Pas Working women Hostel

Aas Pas Working women Hostel  :नमस्कार दोस्तों  आज हम आपको भारत में महिलाओ (women) के लिए चलाई गयी कई प्रकार की  नई योजना के बारे में विस्तार पूर्वक बताने जा रहे है। जिसमे एक योजना के बार में  Working Women Hostel Scheme 2022  ,आस पास वर्किंग वीमेन हॉस्टल जैसी  योजना के बार में बात रही हु  की आप सभी इस बात को  भलीभांति जानते है , की बीते कुछ वर्षो से सरकार निरंतर महिलाओ के विकास हेतु प्रयास कर रही  है। जिसके लिए सरकार अलग अलग प्रकार की योजना बना कर उन्हें लागु कर रही है।

आस पास वर्किंग वीमेन हॉस्टल क्या है?

केंद्र सरकार व  राज्य सरकार द्वारा महिलाओं के विकास के लिए कई योजनाएं चलायी जाती हैं। वैसे तो कई प्रकार की योजनाएं  ऐसी है जो महिलाओं को शिक्षा प्रदान करने व साथ साथ उनके जीवन  कौशल को आगे बढ़ाने के लिए चलायी जाती हैं। परन्तु जहाँ बात कामकाजी महिलाओं की आती है तो सरकार की जिम्मेदारी बन जाती है की उन्हें उनके कार्यक्षेत्र में ही रहने हेतु उचित व्यवस्था कराई जा सके। केंद्र सरकार द्वारा काम करने वाली महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से 6 अप्रैल 2017 को Working Women Hostel Scheme 2022  शुरू किया गया ।

आस पास वर्किंग वीमेन हॉस्टल
आस पास वर्किंग वीमेन हॉस्टल

कामकाजी महिलाओं आस पास वर्किंग वीमेन हॉस्टल : सरकार महिलाओं को समाज में आगे लाने के लिए कई तरह की योजानाएं चलाती है। बच्चियों के जन्म से लेकर उनकी पढ़ाई लिखाई और शादी तक के खर्चे तक के लिए सरकार ने कई योजनाएं राज्य और केंद्र सरकार द्वारा चलाई गई  है। लेकिन काम करने वाली  महिलाओं को नौकरी के दौरान कई बार अपना घर छोड़कर किसी दूसरे शहर में जाकर रहना पड़ता है। ऐसे में सरकार ने महिलाओं को प्रोत्साहित या आगे बढ़ाने के लिए वीमेन हॉस्टल देने की योजना शुरू की है।

आस पास वर्किंग वीमेन हॉस्टल
आस पास वर्किंग वीमेन हॉस्टल

आस पास वर्किंग वीमेन हॉस्टल इन हिंदी

केंद्रीय महिला बाल विकास विभाग द्वारा  काम करने वाली  महिलाओं के लिए योजना चलाई जा रही है। इसके अनुसार घर से बाहर अकेली रहकर काम करने वाले महिलाएं को इस योजना के तहत आसानी से रहने के लिए सुरक्षित आवास  उपलब्ध हो सके । जहां पर उनके बच्‍चों के देखभाल की सुविधा और ज़रुरत की हर चीज आसपास उपलब्ध होगी। यह योजना शहरी, सेमी अरबन और ग्रामीण सभी जगह पर उपलब्ध है। इस संबंध में विस्तृत जानकारी लोकल स्तर पर जिले में तैनात महिला बाल विकास विभाग के नोडल अधिकारियों से ली जा सकती है।

Aas Pas Working women Hostel in hindi   : आप अपना गांव और कस्बा छोड़कर दूसरे शहरों में  कामकाजी (काम करने वाली महिलाओं) के लिए यह खबर काफी विशष है। ऐसी महिलाओं के लिए सरकार ने कई योजनाएं चला रखी है। इनमें से केंद्र की एक योजना “वर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम” ‘(कामकाजी महिला छात्रावास योजना’) भी है।

इस योजना के तहत केंद्र सरकार वे राज्य सरकार ने काम करने वाली  महिलाओं को गांव, कस्बा, शहर और बड़े शहरों में रहने के लिए हॉस्टल या छात्रावास की सुविधाएं देती है। इसके लिए सरकार कई तरह के बिल्डिंग्स भी बनवा रही है। जिससे महिलाएं बिना किसी परेशानी के दूसरे शहर में भी जाकर नौकरी कर सकें। “वर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम” को केंद्र सरकार के साथ ही राज्य सरकार द्वारा भी चलाया जाता है।

Aas Pas Working women Hostel

वर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम इन हिंदी : सरकार महिलाओं को समाज में आगे  बढ़ाने के लिए  कई प्रकार की योजानाएं चलाती है। बच्चियों के जन्म से लेकर उनकी पढ़ाई लिखाई और शादी तक के खर्चे तक के लिए कई योजनाएं राज्य और केंद्र सरकार द्वारा चलाई जाती है। लेकिन कामकाजी महिलाओं को नौकरी के दौरान कई बार अपना घर छोड़कर किसी दूसरे शहर में जाकर रहना पड़ता है। ऐसे में सरकार ने महिलाओं को प्रोत्साहित करने के लिए छात्रावास देने की योजना शुरू की है।

वर्किंग  वीमेन  हॉस्टल  स्कीम  क्या है?

सरकार महिलाओ को आत्मनिर्भर बनाने के लिए केंद्र और राज्य सरकार दोनों निरंतर प्रयास कर रही है। उन्ही प्रयासों में से एक योजना है ‘वर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम ‘।

इस योजना में  सभी काम करने वाली महिलाओ को सरकार की तरफ से रहने के हॉस्टल की सुविधा दी जाएगी।

आस पास वर्किंग वीमेन हॉस्टल का नियम :-  महिलाओं को नौकरी करके आर्थिक रूप से स्वतंत्र बनाने के लिए सरकार वर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम  लेकर आई है। इस योजना के तहत दूसरे शहर में रहकर काम करने वाली महिलाओं को सरकार द्वारा छात्रावास की सुविधा दी जाती है। इस छात्रावास में महिलाएं सुरक्षित रहकर अपने काम को आसानी से कर सकती है।

 आस पास वर्किंग वुमन हॉस्टल 

‘वर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम योजना  के द्वारा देश की सभी काम करने वाली महिलाओ को सरकार की तरफ से रहने के हॉस्टल छात्रावास  की सुविधा प्रदान की  जाएगी। “वर्किंग वीमेन हॉस्टल योजना” के तहत महिलाओ को सुरक्षित रहने की सुविधा प्रदान की जाएगी । इस योजना का मुख्य उदेश्ये महिलाओ को आवास व् सुरक्षा दोनों देना है। और उनके  बच्चो की देखभाल की सुविधा एवं आवश्यकता की सभी सामग्री उन तक पहुंचे जा सके या जा आवास हो उसके ऐसे पास हो सके । ये योजना देश के सभी क्षेत्रों जैसे ग्रामीण ,शहरों एवं सभी अर्बन क्षेत्रों इत्यादि में उपलब्द्ध है। जहा पर महिलाये सुरक्षित रहकर काम  कर सकती है।

वर्किंग वुमन हॉस्टल योजना लाभ 

इस कामकाजी महिला छात्रावास योजना  का लाभ जो महिला इस शर्त के अंतर्गत आती है इस योजना के नियम इस प्रकार है ।

  • ऐसी सभी महिलाएं इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र होंगी जो काम करने वाली या कोई रोजगार करती हैं।
  • इस योजना के तहत सभी काम करने वाली  महिलाओ जो एकल , तलाकशुदा , विधवा, विवाहित , होनी चाहिए है या जो किसी दूसरे शहर में जाकर नौकरी करती है व् अपने परिजनों से दूर है। जैसे की इन सभी रोजगार करने वाली  महिलाओं के पति या कोई रिश्तेदार एक ही शहर या क्षेत्र में नहीं रह रहे हों।
  • ऐसी महिला को इस योजना में समाज की सभी वंचित समुदाय की लड़कियों या औरतो को प्राथमिकता दी जाएगी
  • इस योजना के अंतर्गत शारीरिक रूप से कमजोर महिलाओ के लिए सीटों का आरक्षण दिया जायेगा
  • इस योजना के अंतर्गत वो महिलाओ जो किसी नौकरी के लिए प्रशिक्षण ले रही जिनका नौकरी के लिए ट्रेनिंग पीरियड एक साल से अधिक नहीं है।प्रशिक्षण लेने वाली महिलाओं की संख्या कामकाजी महिलाओं की संख्या का 30 प्रतिशत होना चाहिए।
  • इस योजना के अंतर्गत गरीबी रेखा से नीचे वाली महिलाएं भी इस योजना में पात्र मानी जाएँगी।
  • ऐसी महिलाएं योजना की पात्र होंगी जिसके बच्चों का अन्य कोई देखभाल करने वाला न हो और उसके बच्चे लड़के की 9 वर्ष से अधिक और लड़की की आयु 15 से अधिक न हो। इसके साथ ही वे डे-केयर जैसी सेवाओं का भी लाभ ले सकती है।
  • ऐसी सभी महिलाएं भी इस योजना में आवेदन की पात्र होंगी जिनका वेतन 50 हजार से कम है ।

आस पास वर्किंग वीमेन हॉस्टल योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

इस वर्किंग वीमेन हॉस्टल योजना में आवेदन के लिए आपको निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होगी ।

इस योजना में आवेदन के लिए महिलाओ को निम्नलिखित दस्तावेजों जैसे की आधार कार्ड (Aadhaar Card), पैन कार्ड (PAN Card), पासपोर्ट (Passport) आदि की फोटोकॉपी (Photocopy) चाहिए होगी। इसके साथ ही आप जहां काम करती हैं, वहां के आईडी कार्ड (ID Card) की जरूरत भी आपको पड़ेगी,। इसके साथ ही आपके ऑफिस और आपका मोबाइल नंबर (Mobile Number) की जरूरत भी पड़ेगी।

वर्किंग वीमेन होस्टल योजना इनकम लिमिट 

  • इस योजना के अंतर्गत काम करने वाली  महिलाओ को सुरक्षित आवास प्रदान किया जाता है। परन्तु इसके लिए ये आवशयक है की आवदेक की मासिक आय सकल या इस योजना का नियम के आधार पर होता है ।
  •  महानगरों जैसे बड़े शहरों में आवेदक महिलाओ की प्रतिमाह 50000 /-समेकित एवं किसी और जगह पर 35000 /- प्रतिमाह मानसिक आय होना अनिवार्य है।
  • यदि किसी महिला का प्रमोशन हो जाता है और उनकी आय निर्धारित आय से अधिक बढ़ जाती है तो उन्हें आय बढ़ने के छह माह के भीतर हॉस्टल खाली  करना पड़ता है।

वर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम का उदेश्य 

वर्किंग वीमेन हॉस्टल स्कीम का मुख्य उदेश्य है की  देश की सभी काम करने वाली  महिलाओ को सरकार की तरफ से रहने के हॉस्टल की सुविधा दी जाएगी। इस योजना के अंतर्गत महिलाओ को सुरक्षित आवास प्रदान किया जायेगा। इस योजना का मुख्य उदेश्ये महिलाओ को आवास व् सुरक्षा दोनों देना है।

error: Content is protected !!
1
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x