April 29, 2024

RajPrisons

All Subject Notes Hindi Mein

Bharat Ki Khoj Kisne Ki

Bharat Ki Khoj Kisne Ki

Bharat Ki Khoj Kisne Ki। भारत की खोज किसने की

भारत की खोज किसने की :- नमस्कार दोस्तों आज हम आपको Bharat Ki Khoj Kisne Ki के बारे में बताने जा रहे है । दोस्तों अगर आपके मन में ये सवाल आता है की भारत की खोज किसने की थी इस बारे में जानना चाहते हो तो इन नोट्स में  में हमने Bharat( भारत ) की खोज किसने की, Bharat Ki Khoj Kisne Ki Thi इन नोट्स  मे हमने आपको इत्यादी के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। और हम सब ने स्कूल में पढ़ा होगा । फिर भी में आपको इस बार बहुत ही विस्तार से बताने की पूरी कोशिश है ।

क्लास एग्जाम या कम्पटीशन एग्जाम में आपको पूछा जाता है की Bharat Ki Khoj Kisne Ki Thi इसलिए हमने आपकी सुविधा के लिए हमने आपके लिए इन नोट्स को तैयार किया है ।

Bharat Ki Khoj Kisne Ki Thi

भारत की खोज:- आप सभी ये भी पता तो होगा की भारत को विश्व का सबसे प्राचीन देश माना जाता हैं। भारत की संस्कृति को भी विश्व की सबसे प्राचीन संस्कृति भी मानी जाती हैं। एक समय ऐसा था की भारत के पास बहुत सारा धन और खजाना था इसलिए भारत को पुरान ज़माने में सोन की चिड़िया कहा जाता है।  पहले के समय में भारत में अलग अलग देशो से लोग आकर यहाँ पर व्यापार करते थे और बहुत सारा धन कमाकर ले जाते थे । तो इसलिए कई देशों की नजर भारत के ऊपर बनी रहती थी। तो दोस्तों क्या आप में से क्या कोई व्यक्ति यह जानता है की Bharat Ki Khoj Kisne Ki ?

अगर आपको पता नहीं तो आप निश्चिंत हो जाइये क्योंकि आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से  यह बताने वाले हैं की भारत की खोज किसने की थी और इससे सम्बंधित बहुत सी आवश्यक जानकारी के बारे में हम आपको आज इस पोस्ट  के जरिये बताने वाले हैं। तो अगर आप भी भारत के बारे में अधिक जानकरी प्राप्त करना चाहते हो तो उसके लिए आपको इस पोस्ट  को अंत तक एवं ध्यानपूर्वक पढ़ना होगा तो कृपया करके इसको अंत तक जरूरी पढ़े।

भारत की खोज

भारत की खोज किसने की थी हम सभी दोस्तो ने स्कूल के समय में इसके बारे में अवश्य ही पढ़ा है की भारत की खोज किसने की थी। मगर भारत की खोज करने का श्रेय “वास्को डी गामा” जी को दिया जाता हैं। वास्को डी गमा ने भारत की खोज ’20 मई 1498 ईस्वी “‘में अपने जहाज सैन गेब्रियल और साओ राफयल के द्वारा की थी। वास्को डी गामा ने भारत की खोज अपने चार नाविकों के साथ की थी। वास्को डी गामा भारत समुद्री मार्ग कोझीकोड केरल राज्य के कालीकट पहुंचे थे तो वास्को डी गामा यूरोप से एशिया समुद्री मार्ग  से पहुंचने वाले पहले व्यक्ति थे।

इसलिए ही वास्को डी गामा को यूरोप से एशिया तक का मार्ग  खोजने का श्रेय भी वास्को डी गामा को ही दिया जाता हैं। बताया यह भी जाता हैं की वास्को डी गामा ने भारत की खोज में अपनी यात्रा 8 जुलाई 1497 लिस्बन से प्रारम्भ की थी।

यह भी बताया जाता है वास्को डी गामा ने भारत की खोज  करने के लिए वह अपनी यात्रा यूरोप से करीब 4 समुद्री जहाज और 170 आदमी (men) के साथ शुरू की थी। वास्को डी गामा भारत में सबसे पहले मोजाम्बिक, मोम्बासा, मालिन्दी होते हुए कोझीकोड केरल राज्य के कालीकट बंदरगाह पहुंचे थे।

परन्तु हमने आपको यह बताया की वास्को डी गामा ने भारत यात्रा की शुरुआत में 170 लोगो के साथ की थी परन्तु उनमे से बहुत से लोगो ने बीच मार्ग में स्कर्वी बिमारी हो जाने के कारण उन सभी की मृत्यु हो चुकी थी उनमे से केवल 54 लोग ही भारत तक पहुंच पाए ।  वास्को डी गामा ने भारत की दो बार यात्रा की थी परन्तु तीसरी बार जब वह भारत से वापस यूरोप जा रहे थे तब मलेरिया बीमारी के कारण केरल के कोच्ची में उनकी मृत्यु हो गयी थी।

तब उन्हें भारत से वापस जाने में 2 साल का समय लगा था। और वास्को डी गामा पुर्तगाल के एक नाविक थे। वह एक पहला विदेशी था जो भारत की भौगोलिक स्थिति के बारे में जान पाए थे। फिर साल 1499 में भारत की खोज की यह खबर पूरे यूरोप में फैल गई थी।

वास्को डी गामा खोजकर्ताओं में से एक और यूरोप से भारत सीधी यात्रा करने वाले जहाज़ों का कमांडर था,

Bharat Ki Khoj Kisne Ki In Hindi

  • भारत की खोज वास्को डी गामा ने 20 मई 1498 ईस्वी को की थी।
  • वास्को डी गामा पुर्तगाल के एक नाविक थे
  • वास्को डी गामा के समुद्र जहाज का नाम सैन गेब्रियल और साओ राफयल था
  • वास्को डी गामा ने भारत की खोज अपने 4 नाविकों के साथ मिलकर की थी।
  • वास्को डी गामा भारत समुद्र के जरिये पहुंचे थे तो वास्को डी गामा यूरोप से एशिया समुद्री रास्ते से पहुंचने वाले  पहले व्यक्ति थे।
  • पहले रूस को पार कर चीन के रास्ते बर्मा पहुंचकर भारत आना
  • दूसरा रास्ता अरब और ईरान को पार करके भारत पहुंचना था।
  • तीसरा रास्ता समुद्र का था, जिसमे चुनौती देने वाले सिर्फ समुद्र ही था।
  • वास्को डी गामा ने जब यूरोप से अपनी यात्रा शुरू की थी तब उनके साथ 170 लोग थे।
  • वास्को डी गामा को भारत पहुँचने में 10 महीने का समय लगा था और वापस जाने में उन्हें 2 साल का समय लगा।
  • वास्को डी गामा की मृत्यु 24 दिसंबर 1524 हो हुई।

लेकिन यह कहना गलत होगा  वास्कोडिगामा ने भारत की खोज की वास्कोडिगामा ने तो सिर्फ भारत को यूरोप से जोड़ने वाले समुद्री मार्ग की खोज की थी भारत तो उससे पहले से ही था। इसी समुद्री मार्ग के खोज के कारण वास्कोडिगामा को भारत की खोज का श्रेय दिया गया है।

FAQ about भारत की खोज किसने की

Bharat Ki Khoj Kisne Ki
Bharat Ki Khoj Kisne Ki

प्रश्न :- भारत की खोज किसने की थी 

प्रश्न :- भारत की खोज कब की ?
उत्तर :- वास्को दी गामा ने ’20 मई 1498 ईस्वी की थी 
भारत की खोज यात्रा की चर्चा करें
संदर्भ :- .wikipedia.org
अगर  दोस्तों आपको  हमारा आर्टिकल Bharat Ki Khoj Kisne Ki आपको हमारी जानकारी कैसी लगी अच्छी  लगी हो तो आप हम को कमेंट के जरिए बता सकते है और अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले  ।
error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x