April 5, 2024

RajPrisons

All Subject Notes Hindi Mein

एक जिले में कितने विधायक होते हैं

एक जिले में कितने विधायक होते हैं
एक जिले में कितने विधायक होते हैं

Ek Jile Mein Kitne Vidhayak Hote Hain  :- हमारे देश भारत में हर 5 साल में विधायक का चुनाव होते हैं और जनता अपने पसंद का  उम्मीदवार को वोट देकर अपना विधायक चुनती है। विधायक विधानसभा का सदस्य होता है जो अपने जिले के विकास का कार्य करता है। क्या आप जानते हैं कि एक जिले में कितने विधायक होते हैं अगर नहीं जानते हो तो इस लेख में आपको इसका प्रश्न का उत्तर मिल जाएगा।

एक जिले में कितने विधायक होते हैं

एक जिले में कितने विधायक :- जिलों में विधायक का चुनाव निर्वाचन क्षेत्र के आधार  पर होता है नहीं की जिले की सीमा के आधार पर, निर्वाचन क्षेत्र में दुसरे जिले का कुछ एरिया भी हो सकता है इसीलिए कई बार एक जिले में 1 से अधिक विधायक हो सकता  हैं या फिर 1 विधायक 1 से अधिक जिलो का विधायक हो सकता है। जिस जिले में 1 से अधिक विधायक होते हैं वो केवल व अपने निर्वाचन क्षेत्र के विधायक ही होते हैं पुरे जिले का विधायक नहीं होता है ।

विधायक के कार्य

  • विधायिका का सबसे महत्वपूर्ण कार्य कानून बनाना है
  • कानून व्यवस्था बनाएं रखना।
  • कार्यपालिका पर नजर।
  • जनता की समस्याओं का निवारण करना।
  • राजकीय कोष की जिम्मेदारी।
  • अपने क्षेत्र का विकास करना।
  • लोगों तक आवश्यक वस्तुओं को पहुचाने का प्रबंध करना।

भारत के राष्ट्रपति के चुनाव में राज्य विधायिका के पास कानून बनाने के अलावा एक चुनावी शक्ति होती है। संसद के निर्वाचित सदस्यों के साथ विधान सभा के निर्वाचित सदस्य इस प्रक्रिया में शामिल होते हैं।

विधान सभा का कार्यकाल

  • विधान सभा का कार्यकाल पाँच वर्ष का होता है।
  • मुख्यमंत्री के अनुरोध पर राज्यपाल द्वारा उससे पहले भंग किया जा सकता है।
  • विधान सभा का कार्यकाल आपातकाल के दौरान बढ़ाया जा सकता है, लेकिन एक बार में छह महीने से अधिक नहीं बढ़ाया जा सकता है ।
  • विधान परिषद राज्य में ऊपरी सदन है

विधायक बनने के लिए पात्रता

  • विधायक बनने के लिए व्यक्ति का भारतीय होना जरुरी है।
  • उम्मीदवार किसी अन्य सरकारी पद पर नहीं होना चाहिए।
  • उम्मीदवार की उम्र 25 साल से अधिक होनी चाहिए।
  • उम्मीदवार पर किसी प्रकार का क्रिमिनल रिकॉर्ड नहीं होना चाहिए।

एक जिले में कितने विधायक होते हैं विधान सभा में 500 से अधिक सदस्य नहीं होते हैं और 60 से कम नहीं होते हैं। सबसे बड़ा  राज्य, उत्तर प्रदेश, की विधानसभा में 404 सदस्य हैं। जिन राज्यों में छोटी आबादी और आकार में छोटे हैं, उनके पास विधान सभा में सदस्यों की संख्या कम होने का प्रावधान है। पुदुचेरी में 77 सदस्य हैं। मिजोरम और गोवा में केवल 40 सदस्य हैं। सिक्किम में 32 हैं। विधानमंडल के सभी सदस्य  एंग्लो इंडियन समुदाय से, क्योंकि वह / वह फिट बैठता है, यदि वह इस राय का है कि वे विधानसभा में पर्याप्त रूप से प्रतिनिधित्व नहीं करते हैं।

संदर्भ :- wikipedia.org

error: Content is protected !!
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x